Investment Tips PhonePe is offering all types of mutual fund products know 5 investment features of app achs


नई दिल्‍ली. टैक्स सेविंग फंड्स के साथ म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) डिस्ट्रीब्यूशन में उतरने वाला डिजिटल पेमेंट ऐप फोनपे (PhonePe) ने साल 2019 के दौरान 20 से ज्यादा भारतीय म्यूचुअल फंड कंपनियों के साथ साझेदारी की थी. इस साझेदारी के जरिये पेमेंट ऐप हर तरह के म्यूचुअल फंड प्रोडक्ट्स उपलब्‍ध करा रहा है. फोनपे ने निवेशकों के लिए म्यूचुअल फंड में निवेश की प्रक्रिया को काफी आसान बना दिया है.

फोनपे ने आम निवेशकों को ऐसे आसान इनवेस्टमेंट सॉल्यूशन उपलब्ध कराए हैं, जिनसे उन्हें फैसले लेने में मदद मिलती है. यही वजह है कि फोनपे के साथ बड़ी संख्या में टियर-2 और टियर-3 शहरों से निवेशक जुड़े हैं. आइए जानते हैं फोनपे के उन 5 फीचर्स के बारे में, जो इनवेस्टमेंट को आसान बनाते हैं.

पेपरलेस कर दी इनवेस्टमेंट प्रोसेस
निवेशकों के लिए इनवेस्‍टमेंट शुरू करने में सबसे बड़ी मुश्किल केवाईसी (KYC), परचेज, नॉमिनेशन से जुड़ी प्रक्रिया के लिए डॉक्युमेंटेशन है. निवेशकों की इस दिक्‍कत को समझते हुए फोनपे ने म्यूचुअल फंड में इनवेस्ट से जुड़ी केवाईसी समेत तमाम प्रक्रिया को पूरी तरह से पेपरलेस (Paperless Documents) कर दिया है. फोनपे के जरिये इस प्रक्रिया को पूरा करने में कुछ मिनट का समय लगता है.

ये भी पढ़ें – EPFO ने 23.44 करोड़ लोगों के खाते में भेजी ब्‍याज की रकम, जानें घर बैठे कैसे चेक कर सकते हैं अपना PF Balance?

5 सेकेंड में SIP रजिस्‍ट्रेशन
भारतीय निवेशकों के बीच एसआईपी (SIP) को सबसे बेहतर निवेश विकल्‍प माना जाता है. माना जाता है कि लंबी अवधि में बड़ी रकम जुटाने का ये सबसे बेहतर तरीका है. हालांकि, एसआईपी शुरू करना काफी मुश्किल भरा और समय खपाऊ है. भारत की पहली यूपीआई बेस्ड एसआईपी लॉन्च करने के साथ ही फोनपे ने एसआईपी शुरू करना बेहद आसान बना दिया है. यूपीआई एसआईपी के साथ एक इनवेस्टर सिर्फ 5 सेकंड में रजिस्ट्रेशन (SIP registration) कर सकता है.

ये भी पढ़ें- PM Kisan Yojana: खुशखबरी! किसानों के खाते में इसी हफ्ते आ जाएगी 10वीं किस्‍त, इस प्रक्रिया के बिना नहीं आएंगे पैसे

सही जानकारी तक बनी पहुंच
ज्यादातर इनवेस्टर्स की म्यूचुअल फंड से जुड़ी जानकारियों तक पहुंच काफी सीमित होती है. उन्हें इनवेस्टमेंट शुरू करने के लिए काफी दिक्‍कतों का सामना करना पड़ता है. फोनपे इनवेस्टमेंट से जुड़ी अच्छी जानकारियों तक पहुंच आसान बनाता है. यही नहीं निवेशकों के लिए एजुकेशनल वीडियो और छोटे आर्टिकल्स भी उपलब्ध कराता है. इससे टियर-1 की तरह छोटे शहरों के लोगों को भी म्‍यूचुअल फंड से जुड़ी सूचनाओं तक पहुंच हासिल हो जाती है.

ये भी पढ़ें – Medplus Health Services IPO खुलते ही 20% बुक हुआ, खुदरा निवेशकों का हिस्‍सा 39% भरा

फंड चुनने करने में करता है मदद
फोनपे ने इनवेस्टमेंट प्रोसेस में लोगों की मदद के लिए अलग-अलग कैटेगरी में अच्छा प्रदर्शन करने वाले म्यूचुअल फंड सुझाने के लिए इन्वेस्टमेंट विजेट्स और लिस्ट जैसे फीचर्स तैयार किए हैं. इनसे नए इनवेस्‍टर्स के लिए फैसला लेना आसान हो सकता है.

निवेशक का निवेश पर पूरा कंट्रोल
फोनपे के साथ निवेशक कभी भी और कहीं भी अपने इनवेस्टमेंट्स देख सकते हैं. इससे उन्हें अपने निवेश पर पूरा नियंत्रण मिलता है. इसकी मदद से निवेशक कुछ क्लिक करके अपने निवेश के फैसले पर अमल कर सकता है. यह खासतौर पर उतार-चढ़ाव वाले बाजार में उपयोगी साबित हो सकता है.

Tags: Business news in hindi, Investment and return, Investment tips, Mutual fund investors, Mutual funds, Paytm, Phonepe





Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published.

x
%d bloggers like this: