What is CPU in Hindi l CPU क्या है सम्पूर्ण जानकारी इन हिंदी

What is CPU

आज हमारा आर्टिकल कंप्यूटर CPU पर बेस्ड है। What is CPU in Hindi. इस पोस्ट में CPU के बारे में जानेंगे और जानेंगे की यह क्या होता है। कैसे काम करता है तथा इसके बारे सम्पूर्ण जानकारी।

CPU क्या है (What is CPU in Hindi) –

सीपीयू एक माइक्रो इलेक्ट्रॉनिक चिप है, जो Data को information में बदलें तथा उसे प्रोसेस करने का काम करता है। इसे कंप्यूटर का दिमाग भी कहते है। यह कंप्यूटर के सबसे महत्पूर्ण भाग होता है। CPU का full form ” Central Processing Unit ” होता है और इसी के अंदर प्रोसेसर मौजूद होता है। सीपीयू द्वारा ही हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और यूज़र्स तथा इनपुट डिवाइसो से प्राप्त डाटा और कमांड्स को नियंत्रित करता है।

सीपीयू कंप्यूटर में हो रही सारी गतिविधियों को नियंत्रित करता है और प्राप्त इनपुट को आउटपुट में बदलता है। यह इनपुट तथा आउटपुट यूनिट से मिलकर पूरा कम्प्यूटर सिस्टम बनाता है।

CPU कार्य को समझते है –

उदाहरण के लिए मान लीजिए आप दो नंबरो को जोड़ने के लिए कंप्यूटर में v का उपयोग करते है, तो इसके लिए सबसे पहले  Keyboard से उन नम्बरों को एंटर किया जायेगा।

Then Keyboard controller उस information or data को binary code (0 – 1) में बदल देगा. वो इसलिए क्योंकि कंप्यूटर बाइनरी सिस्टम पर आधारित होता है। जब यह डाटा CPU तक पहुँचता है, तो इसमें मौजूद ALU (Arithmetical Logical Unit) जो सभी Mathematical और Logical operation के लिए जिम्मेदार है। इस संख्या को जोड़कर रिजल्ट आपकी Computer Screen पर डिस्प्ले कर देता है। सभी प्रोसेस का कार्य करने के लिए कंप्यूटर CPU पर ही निर्भर होता है।

CPU द्वारा सारे कंप्यूटर कृत कार्यो को कण्ट्रोल किया जाता है और इस पर इतना कार्यभार भी होता है, तो इसलिए अकसर गर्म भी हो जाया करता है। इसी गर्मी से बचने के लिए CPU के ऊपर cooling fan लगाया जाता है, जो CPU को ठंडा करता है।

Note :- अक्सर लोग सीपीयू तथा प्रोसेसर को एक ही मान लेते है जो कि गलत है। दरअसल सीपीयू के अंदर प्रोसेसर मौजूद होता है जो प्रोसेसिंग यूनिट कहलाती है और इसे ही कोर (core) भी कहते है। एक सीपीयू के अंदर मल्टीकोर (कई कोर) स्थित हो सकते है।

CPU को अपना कार्य करने के तीन सहायक उपकरणों की आवश्यकता होती है, जिनकी सहायता से सीपीयू अपना कार्य कर पाता यही। निम्नानुसार उदाहरण दिये गए है:-

Memory
Control Unit (CU)
ALU (Arithmetical Logical Unit)

मेमोरी (Memory)

Memory कंप्यूटर का भण्डारण कहलाती है। इसमें सारा डाटा स्टोर किया जाता है। यह एक फिजिकल डिवाइस है, जिसका इस्तेमाल कंप्यूटर में स्थाई और अस्थाई तौर पर डाटा, इनफार्मेशन को स्टोर करने के लिए कंप्यूटर द्वारा उपयोग किया जाता है। मेमोरी छोटे-छोटे भागों में बंटी रहती है। इसके प्रत्येक भाग को एक Cell कहा जाता है।

मेमोरी CPU द्वारा प्राप्त निर्देशों और डाटा को पहले अपनी स्मृति में भंडारित करता हैं और फिर दुबारा Data को Process करने के बाद भी उसे मेमोरी में ही स्टोर करता है। जिसे यूजर कभी भी इस्तेमाल कर सकता है। कंप्यूटर अपना कार्य करने के लिए अलग-अलग मेमोरी का उपयोग करता है। For example – जिस मेमोरी Unprocessed Data (Input) रखा जाता हैं, उसे प्राथमिक मेमोरी (RAM – Random Access Memory) कहा जाता हैं और जिस मेमोरी में Processed Data (Output) भेजा जाता हैं उसे Secondary Memory (ROM -Read Only Memory) कहा जाता है।

कण्ट्रोल यूनिट (Control Unit)

कंट्रोल यूनिट (Control Unit) जिसे CU भी बोलते है। इस control unit का कार्य Hardware के किये गए क्रियाओं को नियंत्रित और संचालित करने का कार्य करती है secondly यह Input Output का कार्यो को भी नियंत्रित करती है यह Memory और ALU के बीच हो रहे निर्देशो के आदान प्रदान को control करने का कार्य करती है।

यह मेमोरी से निर्देश प्राप्त करती हैं और उसे Decode करके Central Processor को भेज देती है। Then उस Particular Event को Process किया जाता है और यह प्रकिर्या चलती ही रहती हैं.

ALU (Arithmetical Logical Unit)

ALU का पूरा नाम अरिथमैटिक लॉजिक यूनिट (Arithmetic Logic Unit) अर्थात् गणितीय एवं तार्किक इकाई होता है। ALU, CPU का वह महत्वपूर्ण भाग या कम्‍पोनेंट जहॉं प्रोसेसिंग के दौरान निर्देशों का वास्तविक क्रियान्वयन होता है। इसका प्रयोग अंकगणितीय एवं तार्किक गणना करने के लिए किया जाता है

Arithmetic Logical Unit गणितीय क्रियाओं में जोड, घटाव, गुणा, भाग आदि करता हैं और निर्णय देने के लिए डाटा का मिलान, तुलना करना, छांटना आदि कार्य करता है। Then किसी निर्णय पर पहुँचता है। जिसे Output कहा जाता है। एक काम पूरा होने के बाद पुन: दूसरा काम करने के लिए यह प्रक्रिया दोहराई जाती है। अभी हमें सीपीयू के बेसिक What is CPU in Hindi के बारे में जान, But अब सीपीयू पहली बार निर्माण कब किया गया के बारे में जान लेते है।

CPU का निर्माण –

दुनिया के पहले CPU का निर्माण 1970 के दशक में हुआ था। यह CPU प्रसिद्ध प्रोसेसर बनाने वाली कंपनी Intel द्वारा बनाया गया था, तब से लेकर आज तक इसके डिज़ाइन और कार्य करने की क्षमता में काफी बदलाव हुए है और समय के साथ इसमें जरुरी बदलाव किये जाते रहे है, but इसके फंडामेंटल ऑपरेशन अर्थात काम करने के तरिके में ज्यादा बदलाव नहीं आया है। सीपीयू एक कंप्यूटर सिस्टम का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। इसको महत्वपूर्ण बनाने में इसके पार्ट्स बड़ा योगदान रहता है।

CPU की बनावट –

कंप्यूटर में CPU motherboard में मौजूद CPU socket में लगा रहता है। देखने में ये एक square shape की chip की तरह होता है, जो हजारों transistors की पतली परत से मिलकर बनी होती है। इन transistor की मदद से ही CPU किसी input device या कंप्यूटर प्रोग्राम से input प्राप्त करता है then उसकी processing करने के बाद output device को result भेजता है।

CPU Cores –

CPU Chip का वह वास्तविक भाग जो कम्प्यूटेशनल टास्क को पूरा करने का काम करता है उसे Processor Core कहा जाता है। किसी Processor के अंदर Core ही होता है जो वास्तविकता में Data को Process करने का काम करता है। Further प्रोसेसर का हर एक Core एक Individual CPU होता है। एक Processor में एक से अधिक Core भी हो सकते है।

जिस Processor के अन्दर केवल एक Core रहता है उसे Single Core Processor कहा जाता है और जिस Processor के अन्दर एक से ज्यादा Core लगे होते है उसे Multi Core Processor कहा जाता है। Since एक से ज्यादा Core वाले Processor को कोर की संख्यां के आधार पर Categorized किया गया है जैसे- Dual Core, Quad Core, Hexa Core, Octa Core.

दोस्तों आप इस पोस्ट में What is CPU in Hindi में पड़ रहे है यह आपका ये जानना जरुरी हो जाता है की Multicore Processor होता है।

Multicore Processor क्या होता है

जिस CPU Chip के अंदर एक से ज्यादा Core होते है, उसे Multi Core Processor कहा जाता है। Multi-Core Processor की पावर Single-Core Processor की तुलना में बहुत ही ज्यादा होती है। Because इसमें एक ही Chip के अन्दर कई सारे Cores हो सकते है और प्रत्येक Core एक Special (Individual) CPU है। जो Parallelly एक साथ मिलकर किसी भी काम को करते है, इसलिए मल्टी-कोर प्रोसेसर वाले Devices की स्पीड भी हमें अच्छी मिलती है। मल्टी-कोर प्रोसेसर मल्टीटास्किंग बगेरा को बड़ी आसानी से कर सकता है। आज प्रायः जितने भी High End कंप्यूटर और नए स्मार्टफोन इत्यादि में मल्टी-कोर प्रोसेसर लगे होते है।

दोस्तों में आशा करता हूँ की आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी अच्छी लगी होगी। आप जान चुके होंगे की What is CPU in Hindi इस पोस्ट को लेकर आपके मन में कोई भी query हो तो आप हमसे जरूर पूछे। हम पूरी कोशिस करेंगे की आपको सही और सटीक जानकारी provide कर सके। हमारे द्वारा लिखी पोस्ट पढ़ने के लिए “Thank You”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

x
%d bloggers like this: