What is the mobile USB Port ? in Hindi

USB Cable

यूएसबी का फुल फॉर्म है Universal Serial Bus. अर्थात् एक ऐसा टूल, जो विभिन्न डिवाइसेज को आपस में Connect करने और उनके बीच Power व Data Transfer करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। USB-connected devices एक बहुत ही बड़े range को cover करता है जैसे की keyboards, mouse, music players और flash drives. इस USB cable की मदद से computer को दुसरे device जैसे की printer, monitor, scanner, mouse और keyboard के साथ जोड़ा जाता है. 

स्मार्टफोन का आज के समय में सभी लोग इस्तेमाल करते हैं, लेकिन क्या उसमें मौजूद सभी फीचर और उससे जुड़ी टेक्नोलॉजी के बारे में जानते हैं। आज हम इस आर्टिकल में मोबाइल चार्जिंग पोर्ट के बारे में के बारे में जानेगे की यह कैसे काम करता है और इसके क्या फायदे होते है। इन दिनों स्मार्टफोन कंपनी अपने मोबाइल में यूएसबी पोर्ट के बारे में, जहां पहले USB 2.0 पोर्ट दिया करती थी, लेकिन अब कम्पनीज इस के वजाय USB Type-C पोर्ट का यूज क्यों कर रही है। आइये जानते है चार्जिंग पोर्ट से जुडी पूरी जानकारी।

USB क्या होती है ? in Hindi

USB का पूरा नाम universal serial bus है USB पोर्ट बहुत ही standard cable connection होता है, जो की एक interface प्रदान करता है. पर्सनल कंप्यूटर और कंस्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस के बीच में। Universal Serial Bus जो की इंडस्ट्री स्टैण्डर्ड होता है. शार्ट-डिस्टेंस डिजिटल डाटा कम्युनिकेशन के लिए USB पोर्ट allow करते हैं. USB devices को एक दूसरे के साथ कनेक्ट करने के लिए जिससे की वो आसानी से Digital Data transfer कर सके USB cable के माध्यम से इसके साथ इनके इस्तेमाल से इलेक्ट्रिक पावर भी सप्लाई किया जा सकता है devices के बीच। यह एक ऐसी तकनीक है जिसके इस्तेमाल से हम डाटा को एक जगह से दूसरी जगह ट्रांसफर कर सकते हैं.

What is Wi-Fi & How to use in Hindi

USB standard में दोनों वायर्ड और वायरलेस वर्शन स्तिथ है, लेकिन केवल wired version में ही USB पोर्ट्स और केवल होते हैं. सबसे पहले Universal Serial Bus (version 1.0) को commercially सन 1996 के जनवरी महीने में रिलीज़ किया गया था. इस इंडस्ट्री स्टैण्डर्ड को जल्द ही दूसरे बड़े कम्पनीज जैसे की Intel, Compaq, Microsoft इत्यदि के द्वारा अपना लिया गया था।

दरअसल USB 2.0 जो कि माइक्रो USB का अपग्रेडेड वर्जन है और इसमें कुछ कमियां होने की वजह से यूजर्स के लिए USB Type-C पोर्ट को बनाया गया ताकि लोगों को दिक्कतों का सामना न करना पड़ें। USB Type-C फास्ट चार्जिंग को सपोर्ट करता है और इसके जरिए यूजर्स 100W तक की पावर ट्रांसफर कर सकते हैं। जबकि USB 2.0 पोर्ट के जरिए सिर्फ 20W तक ही पावर ट्रांसफर कर सकते हैं।

What is the Wi-Fi Hotspot & How to connect in Hindi

इसके अलावा अगर USB 2.0 पोर्ट व USB Type-C पोर्ट की तुलना करें तो USB Type-C पोर्ट के जरिए 5GB प्रति सेकंड डाटा ट्रांसफर कर सकते हैं। जबकि USB 2.0 पोर्ट के जरिए सिर्फ 450 MB प्रति सेकंड ही डाटा ट्रांसफर कर सकते हैं। यानी USB Type-C पोर्ट होने से यूजर्स को डाटा ट्रांसफर करने में ज्यादा आसानी होगी और यही वजह है कि स्मार्टफोन कंपनियां अपने यूजर्स को और स्मार्ट बनाने के लिए अपने नए मोबाइल में USB Type-C पोर्ट को इस्तेमाल करते हैं, जिससे की यूजर्स को कम समय में ज्यादा लाभ मिल सकें।

इतना ही नहीं USB 2.0 पोर्ट को उल्टा और सीधा देखकर प्लगइन करना पड़ता था, हालांकि कभी गलती होने पर यह पोर्ट टूट भी जाता था। वहीं USB Type-C पोर्ट में ऐसी दिक्कत देखने को नहीं मिलती है, क्योंकि इस पोर्ट को सीधा और उल्टा प्लगइन करने पर नहीं टूटता है। इसके अलावा USB 2.0 पोर्ट काफी पुराना हो गया है ऐसे में कंपनियां कुछ नया करने के मकसद से USB Type-C पोर्ट को लाना बेहतर समझा। बता दें कि USB Type-C को 2014 में लाया गया है। इससे पहले 2000 में USB 2.0 को पेश किया गया था, जबकि 1998 में USB Type-A को मोबाइल में यूज किया जाता था।

Top 5 Best Smartphones Under 15,000 IN 2021

बैटरी संबंधित अपडेट :-

स्मार्टफोन कंपनियां फोन में कई तरह के अपडेट्स जारी करती रहती हैं। इन सॉफ्टवेयर अपडेट्स में कई बार बैटरी से जुड़े अपडेट्स भी होते हैं। इन अपडेट्स को कई बार यूजर्स को नजर अंदाज कर देते हैं। ऐसे में पुराना सॉफ्टवेयर होने की वजह से भी फोन के चार्जिंग में समस्या आ सकती है। समाधान: इस समस्या से निपटने के लिए जरूरी है कि आप फोन में आने वाले सॉफ्टवेयर अपडेट पर नजर रखें। अगर कोई अपडेट आपके फोन के लिए जरूरी है तो उसे अपडेट कर लें।

USB चार्जिंग पोर्ट से हैकिंग कैसे होती है और इससे कैसे बचें ?

USB चार्जिंग पोर्ट से हैकिंग होती है, यह सुनकर आपको अजीब लग सकता है, लेकिन यह बिल्कुल सच है। आपके स्मार्टफोन को चार्ज में लगाने पर उसे यूएसबी चार्जिंग पोर्ट द्वारा किया जा सकता है और आपकी निजी जानकारियां चुराई जा सकती हैं। यहां पर हम यूएसबी चार्जिंग पोर्ट से हैकिंग कैसे होती है और इससे कैसे बचें? के बारे में विस्तार से जानेंगे…

आपको शायद अंदाजा भी नहीं होगा कि स्मार्टफोन के लिए इस्तेमाल होने वाले डाटा केबल (Data cable) यानी कि USB चार्जिंग केबल के माध्यम से आपके Mobile को Hack किया जा सकता है। आपका मोबाइल हैक करके Hackers आपके Personal Data को चुरा सकते हैं, यहां तक कि आपका बैंक अकाउंट (Bank Account) भी खाली हो सकता है। That’s why हाल ही में देश की सबसे बड़ी पब्लिक सेक्टर की बैंक SBI ने अपने ग्राहकों को आगाह किया है कि आप अपने स्मार्टफोन को चार्ज में लगाने से पहले सावधान हो जाइए।

भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) ने Tweet करके अपने Customers को इस खतरनाक Cyber Crime के बारे बताया। उन्होंने बताया कि कैसे USB charging cable के माध्यम से हैकर आपके Smartphone को Control और Access कर सकते हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि यह कैसे संभव हो सकता है? तो चलिए इसके बारे में जान लेते हैं।

These awesome products you can buy with heavy discounts on Amazon deals for only today

USB Charging Port से Hacking कैसे होती है ?

Finally आप सभी ने रेलवे स्टेशन, मेट्रो ट्रेन के डिब्बों, कार और अन्य कई पब्लिक प्लेस पर चार्जिंग पोर्ट लगे हुए देखे होंगे और शायद उन पर अपना फोन भी चार्ज किया होगा। साइबर क्राइम करने वाले हैकर्स इन्हीं चार्जिंग स्टेशंस पर उपलब्ध चार्जिंग पोर्ट (USB Socket) इत्यादि पर ऑटो डाटा ट्रांसफर डिवाइस फिट कर देते हैं। इन Auto Data Transfer Device के जरिए आपके मोबाइल का डाटा ऑटोमेटेकली हैकर्स द्वारा लोकेट किए गए सर्वर पर स्टोर हो जाता है।

Firstly अब आपकी निजी जानकारियों में आपकी Photos, Videos, Documents के अलावा Bank Account Details, Credit या Debit Card, Password इत्यादि सब शामिल होता है। Hackers आपके मोबाइल को control & access भी कर सकते हैं, ऐसे में अगर आपने अपने मोबाइल में Banking app पर लॉगिन किया हुआ है तो समझो आपका पूरा Bank Balance साफ हो गया। सिर्फ इतना ही नहीं आपकी निजी जानकारियों की मदद से वह आपके मोबाइल में लगे सिम कार्ड को भी क्लोन कर सकते हैं और SIM Swap को अंजाम देते हुए आपके बैंक अकाउंट को खाली कर सकते हैं।

ये वाकई में बहुत बड़ी समस्या है, यह बात आपको अच्छी तरह से समझ आ गई होगी। अब आप सोच रहे होंगे कि इस समस्या से कैसे बचा जाए?आइए हम आपको इसके बारे में भी बताने जा रहे हैं.

boAt Airdopes 441 Pro Bluetooth Truly Wireless in Ear Earbuds with Mic (Sporty Blue)

USB Charging Hacking से कैसे बचें? जरूरी उपाय

Secondly अगर आप इस प्रकार की Hacking या ऑनलाइन फ्रॉड (Online Fraud) से बचना चाहते हैं तो नीचे बताये गए स्टेप फॉलो करें। किसी भी Public Place या पब्लिक ट्रांसपोर्ट में USB Port के माध्यम से अपने फोन को चार्ज करने से बचें। सफर में मोबाइल के साथ चार्जर या पावर बैंक लेकर चलें ताकि आपको पब्लिक प्लेस चार्जिंग की जरूरत ना पड़े। अगर आप किसी पब्लिक प्लेस पर फोन चार्ज करना चाहते हैं तो आप केवल अपने फोन के चार्जर के जरिए ही चार्ज करें।Public Place पर लगे USB केबल के माध्यम से कभी भी अपना फोन चार्ज न करें।

Especially किसी अनजान शख्स के लैपटॉप या PC की मदद से भी अपने फोन को चार्ज नहीं करना चाहिए। किसी अनजान व्यक्ति के कार से अगर आप सफर कर रहे हैं तो फोन को कार में चार्ज करने से भी बचें। अगर आपको कहीं पर शक हो तो अपने बैंक को आगाह करें। अपने बैंक अकाउंट के पासवर्ड समय-समय पर बदलते रहें। सबसे जरूरी बात है मोबाइल में हमेशा लॉग इन रहने से बचें, काम होने के बाद हमेशा लॉग आउट करने की आदत डालें।

Firstly अपने मोबाइल फोन में केवल जरूरी चीजें ही रखें, जिन डाक्यूमेंट्स की जरूरत ना हो उन्हें मोबाइल में रखकर रिस्क ना ले।केवल यही तरीके हैं जो आपको यूएसबी चार्जिंग पोर्ट हैकिंग से बचा सकते हैं। अगर आप Public या Unknown USB के द्वारा अपना मोबाइल चार्ज करते हुए इससे बचना चाहते हैं तो उसके लिए आपको USB Charging चेक करना होगा।

शायद किसी भी पब्लिक प्लेस पर यह संभव नहीं है, because आप Public USB Socket से छेड़छाड़ नहीं कर सकते। इसलिए बेहतर है कि आप ऊपर बताए तरीके ही अपनाएं।

मोबाइल तेज़ी से चार्ज करने के 5 तरीक़े

1. मोबाइल को फ्लाइट मोड पर डाल दें
2. इसे पूरी तरह बंद कर दें
3. इसे यूएसबी पोर्ट से चार्ज ना करें
मोबाइल फ़ोन यूएसबी पोर्ट की बजाय बिजली से ज़्यादा जल्दी चार्ज होता उदाहरण के लिए ऐपल फ़ोन के लिए कंपनी का सुझाव होता है कि मोबाइल को फ़ोन एडेप्टर के साथ मिले यूएसबी केबल के ज़रिये दीवार पर लगे बिजली के पॉइन्ट से चार्ज करें.
4. इसे उचित तापमान में रखें
5. आधिकारिक चार्जर इस्तेमाल करें

हम आशा करते है की ये आर्टिकल आप लोगो को पसंद आया होगा। गैजेट्स एंड टेक से जुड़ी नयी जानकारी पाने के लिए Suggest2u.com को (Twitter, Instagram, Facebook) पर फॉलो करे। आप हमे E-Mail के माध्यम से अपने सुझाव और सवाल हमारे E-Mail :- info@suggest2u.com पर भेज सकते है!

Leave a Comment

Your email address will not be published.

x
%d bloggers like this: