Calculator क्या है जाने Calculator से जुड़ी Complete जानकारी in Hindi

जाने Calculator से जुड़ी Complete जानकारी

हिन्दी में Calculator का पर्याय- गणक या गणित्र), गणितीय गणनाएं (परिकलन) करने का एक उपकरण होता है। यद्यपि आधुनिक दौर में आज सामान्य उपयोग का एक उपकरण (कंप्यूटर) होता है.

Calculator क्या है-

जब भी हमें कोई बड़ा Calculation करना पड़ता है तब हमें Calculator की याद ज्यादा आती है. लेकिन क्या आप लोगों ने ये सोचा की आखिर ये कैलकुलेटर क्या है और कैसे ये इतनी जल्दी सभी mathematical calculation को पूर्ण कर लेता है. क्या Calculator के अलग types भी होते हैं और ये कैसे काम करता है, therefore यदि आपके मन में कभी ये सवाल आये हैं और आपको Calculator क्या होता है और काम कैसे करता है के विषय में ज्यादा कुछ जानकारी आपको को किताब या internet पर नहीं मिली तब चिंता करने की कोई बात ही नहीं है क्यूंकि आप हम इस Calculator के विषय में ही जानेंगे.

Above all हम अक्सर छोटे devices की खासियत को नज़र अंदाज़ करते हैं, मतलब की जो यंत्र हमारे हाथों के हथेलियों के जितनी ही छोटी होती है उन्हें हम ज्यादा महत्व नहीं देते हैं. ठीक वैसे ही होता है हमारे calculating device के साथ. जी हाँ दोस्तों ये दिखने में तो छोटा है लेकिन बहुत ही बड़े बड़े sums को चुटकियों में कर देता है.

Calculation की बात करें तब हमारे दिमाग में भी हम बहुत से छोटे मोटे calculation को कर सकते हैं But इसकी भी एक सीमा है और उसके बाद हमें इसमें तकलीफ होने लगती है. इसलिए हम इन्सान शुरू से ही ऐसे यंत्र बनाते आये हैं जी की हमें calculation में मदद कर सके. अभी के बात करें तो ये Calculators अब अलग devices से चलकर हमारे Smartphones में एक application के तरह इस्तमाल किये जाते हैं. लेकिन भले ही ये सुनने में थोडा आपको अजीब लगे लेकिन Calculators को बहुत सारे evolutionary steps से गुजरना पड़ता है, कहीं तब जाकर हम इस यंत्र के इस रूप को देख और इस्तमाल कर पा रहे हैं.

What is the Wi-Fi Hotspot & How to connect in Hindi

कैलकुलेटर क्या है (What is Calculator in Hindi)

Firstly Calculator एक electronic hardware device या software होता है जो की बहुत ही mathematical calculations जैसे की addition, multiplication, subtraction, और division करने के capable होता है, Casio Computer Company ने सबसे पहले commercialized electronic Calculator को सन 1957 में launch किया था. तब से लेकर Calculators के sizes, features और functions में काफी बदलाव नज़र आई ये बदलाव लोगों के जरूरतों के हिसाब से और इस्तमाल के हिसाब से manufacturers ने लाया. उन्होंने तो यहाँ तक की Computer, Smartphones और Tablets के लिए भी उनके operating systems में इसे बनाना चालू किया. बहुत से Operating Systems जैसे की Windows, iOS, Android, Mac के अपने ही inbuild Calculator application मेह्जुद हैं.

कैलकुलेटर शब्द का जन्म Latin शब्द calculare, से आया है जिसका मतलब है की counting करना stones (पत्थर) के इस्तमाल से. ये Calculators का इस्तेमाल हम इतना करते हैं की ये हमारे जीवन का एक हिस्सा बन गए हैं. इन Calculators की कीमत उनके features, application और size पर निर्भर करता है. अभी के समय में इसका इस्तेमाल सीखना बहुत ही जरुरी हो गया है. ऐसा इसलिए Because अभी के समय में समय की ही ज्यादा जरुरत है और हमारे calculation को आसान कर ये हमारे समय की काफी बचत करता है. साथ ही जरुरत के इस्तमाल से अभी Scientific Calculators की भी demand काफी बढ़ी हुई है क्यूँ इसमें ऐसे बहुत सारे functions होते हैं जो की Engineers, architects, Scientists को अपने काम करने के लिए जरुरत होती है.

Acnos Brand – A Black-Blue-Pink-White Stainless Steel Silver Band with Silver braclet and Watch for Women Watch for Girls

कैलकुलेटर का इतिहास-

चूकि (Since) एक समय था जब की ये numbers exist ही नहीं करते थे. इंसानों को अपने हाथ और पैरों के उँगलियों का इस्तमाल counting devices के तोर पर करते थे. लेकिन ये काफी नहीं था क्यूंकि जब बात ज्यादा संख्या की आई तब हिसाब करना असंभव होने लगा. फिर हमारी सभ्यता ने abacus का आविस्कर किया, जो की सबसे पुरानी calculating tool है उँगलियों को छोड़कर.

अभी भले ही इनका इतना ज्यादा इस्तेमाल नहीं होता है लेकिन Abacus ही वो यंत्र था जिसने की मानव सभ्यता में Calculating Machine की शुरुवात की थी. फिर धीरे धीरे इस calculating machine में काफी बदलाव आये और आखिर में ये Calculator बना जिसे ही हम हमारे calculation के लिए इस्तमाल करते हैं.But ये बहुत जल्द नहीं हो गया बल्कि इसे होने में कई साल लग गए, जिसके बारे में हम आगे जानने वाले हैं. आगे आप सबसे महत्वपूर्ण Calculation Machines के बारे में उनके निर्माता और वर्ष के हिसाब से जानेंगे.

What is Windows XP And Why was it so popular in Hindi

Schickard की ये “Calculating Clock” में multiplying device लगे हुए थे, For example की एक mechanism होती थी intermediate results को record करने के लिए, वहीँ एक 6-digit decimal adding device भी थी.

कैलकुलेटर के अंदर क्या होता है-

If आपके कोई 19th-century के Calculator को खोला होता, तब आपको बहुत सारे छोटे मोटे parts मिले होते उसके अंदर में, जिसमें precision gears, axles, rods, और levers, जिन्हें की अच्छे से greased किया गया हो, और जो की इधर उधर click कर रहे होते और whirl भी कर रहे होते जब आप कोई number टाइप करें, But modern Calculator की बात ही कुछ अलग होती है because इसमें आपको बहुत से से छोटे छोटे उपकरण देखने को मिलेंगे. चलिए उन्ही के बारे में जानते हैं :

1.  Input: Keyboard: जिसमें की 40 tiny plastic keys होती हैं जिसके निचे एक rubber membrane होता है और एक touch-sensitive circuit होता है.

2.  Processor: एक microchip जो की सभी hard work करता है. ये वो सभी काम करता है जो की पहले की Calculator में वो gears किया करते थे.

3.  Output: एक liquid crystal display (LCD) जो की आपको numbers show करते हैं जब आप कुछ type करते हैं और आपके calculation का result भी show करते हैं .

4.  Power source: एक long-life battery जो की अक्सर एक “button” cell होती है जो की ज्यादा वर्षों तक चलती है. कुछ Calculators में solar cell का भी इस्तेमाल होता है जो की daylight में free power प्रदान करता है.

कैलकुलेटर के प्रकार

Above all अगर आप internet में या market में देखोगे तब आपको Calculators के कई प्रकार देखने में मिल जायेंगे. ये सभी Calculators का अलग अलग काम होता है और इन्हें अलग अलग आयु के लोग इस्तमाल करते हैं. तो चलिए इन Calculators के अलग अलग प्रकार के बारे में जानते हैं.

New LiFi technology क्या है और कैसे काम करती है ?

Basic Calculator

ये क्या कर सकता है ?

  • Add
  • Subtract
  • Multiply
  • Divide
  • Percentages
  • Square roots
  • Simple memory function

Calculators का सही इस्तेमाल-

Finally Calculators को सिर्फ खरीद लेना ही सबकुछ नहीं होता है. इसका अगर सही इस्तमाल नहीं किया जाता है तब इसे इस्तमाल न करना ही ज्यादा अच्छा माना जाता है. Calculators को इसलिए ही बनाया गया था so that ये हमारे complexity को कम कर सके और हमें ज्यादा efficient बना सके. इसलिए Calculators का Efficient इस्तमाल करने से ये न केवल हमारे समय की बचत करता है बल्कि ये हमें ज्यादा accurate results भी प्रदान करता है.

कुछ जानने योग्य बातें

1.  Calculator के सभी symbols के बारे में जानना बहुत ही जरुरी होता है.

2.  Brackets के इस्तमाल से ये Calculator को ये बताता है की कोन सा calculation पहले करना है.

3.  एक ही बार में calculation करने से आपकी समय की ज्यादा बचत होती है और इससे गलती होने की संभावनाएं भी कम हो जाती हैं.

4.  अगर आपको सभी buttons के बारे में पता नहीं है तब आपको Calculator के user manual को एक बार जरुर पढ़ना चाहिए.

हम आशा करते है की ये आर्टिकल आप लोगो को पसंद आया होगा। गैजेट्स एंड टेक से जुड़ी नयी जानकारी पाने के लिए Suggest2u.com को (Twitter, Instagram, Facebook) पर फॉलो करे। आप हमे E-Mail के माध्यम से अपने सुझाव और सवाल हमारे E-Mail :- info@suggest2u.com पर भेज सकते है!

1 thought on “Calculator क्या है जाने Calculator से जुड़ी Complete जानकारी in Hindi”

  1. Pingback: how-to-earn-money-with-bhim-upi-id - Suggest2u

Leave a Comment

Your email address will not be published.

x
%d bloggers like this: